E Rickshaw Distribution by PM Narendra Modi in Lucknow, UP

E Rickshaw Distribution by PM MODI

E Rickshaw not only offering employment to many in India, but it has other benefits also. That is the reason why Indian Govt. is also promoting these battery operated Rickshawsskyride e rickshaw

लखनऊ विजिट पर गये पीएम मोदी ने 2100 ई-रिक्शों का वितरण किया, जो काफी चर्चा का विषय रहा। क्योंकि पिछले दिनों इसी तर्ज पर यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने भी तीन सौ लोगों को ई-रिक्शा बांटे थे। ये सब एक तरह से चुनाव प्रचार से भी जुड़ा हुआ था और साथ ही केंद्र सरकार की एक नीती जिससे इ रिक्शा को बढ़ावा मिल सके।

ई-रिक्शा से लोगों को रोजगार तो मिलता ही है, इसी के साथ ई-रिक्शा के कई अन्य फायदे भी हैं, जिसके चलते सरकार ई-रिक्शा को प्रमोट कर रही है।

क्या हैं ई-रिक्शा के फायदे

पर्यावरण अनुकूल– ई-रिक्शा बैटरी से चलता है तो इसी वजह से इससे वायु प्रदुषण उत्पन्न नहीं होता है। सिर्फ इतना ही नहीं ई-रिक्शा में इस्तेमाल होने वाली बैटरी आसानी से रिसाइकिल की जा सकती है, जिसकी वजह से इसे बदलने में समस्या नहीं होती है।

किफायती – ई-रिक्शा और वाहनों के विपरीत सस्ते होते हैं और आम आदमी इसे आसानी से खरीद सकता है। इसके अलावा यात्रियों को दूसरे जन यातायातों के मुकाबले में कम शुल्क पड़ता है। सिर्फ उपभोक्ताओं को ही नहीं, इसकी कम लागत का फायदा मालिकों को भी मिलता है। ई-रिक्शा की बैटरी आसानी से चार्ज की जा सकती है।

कम ध्वनि प्रदूषण– ई-रिक्शा से किसी भी प्रकार की ध्वनि उत्सर्जित नहीं होती है, जिसकी वजह से यह एक ध्वनि प्रदूषण मुक्त वाहन है।

आजीविका– ई-रिक्शा गरीब और बेरोजगार रिक्शा चालकों के लिए आजीविका का स्त्रोत बनता जा रहा है। इसमें ज्यादा पैसे का निवेश नहीं करने पड़ता है, जिसकी वजह से यह एक अच्छा आजीविका का माध्यम है।

सुरक्षा– अन्य ईंधन ऑपरेटिंग वाहनों की तुलना में ई-रिक्शा में कम जोखिम होता है। ईंधन ऑपरेटिंग वाहन में विस्फोट भी हो सकते हैं, लेकिन ई-रिक्शा में ऐसा कोई खतरा नहीं होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *